Bahut nazuk hai ye manzil

Bahut nazuk hai ye manzil

बड़ी नाजुक है ये मंज़िल, मोहब्बत का सफर है
धड़क आहिस्ता से ऐ दिल, मोहब्बत का सफर है

कोई सुन ले ना ये किस्सा, बहुत डर लगता है
मगर डरने से क्या हासिल, मोहब्बत का सफर है

बताना भी नहीं आसान, छुपाना भी कठिन है
खुदा-या किस कदर मुश्किल, मोहब्बत का सफर है

उजाले दिल के धड़कन फैले हैं, चले आओ ना जानम
बहुत ही प्यार के काबिल, मोहब्बत का सफर है