आँखें कह रहीं हैं आसमान को देखूं,

आँखें कह रहीं हैं आसमान को देखूं,
पलकें कह रहीं हैं किस जहान को देखूं..
अजीब कशमकश है इन दो आँखों के बीच
ए दिल तू बता कि किस चाँद को देखूं.